सावधान: मोबाईल में देखी गंदी वीडियो तो घर में घुसकर पकड़ेगी पुलिस, कुछ नहीं कर पाओगे आप! 

नई दिल्ली । अगर आप अपने मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर में गूगल पर अथवा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नाबालिग बच्चों की गंदी वीडियो या फोटो सर्च करते हैं अथवा अपलोड या डाउनलोड कर देखते हैं तो आप नेशनल क्राइम ब्यूरो (NCB) की रडार पर हैं। कभी भी यह सरकारी एजेंसी आपको आपके घर में घुसकर गिरफ्तार कर सकती है। 

Rajasthan Police
Rajasthan Police

 

इसके पश्चात आपको जेल की हवा खानी पड़ सकती है। यह हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि पिछले एक माह से हुई दूसरी कार्रवाई से इस बात की पुष्टि हो रही है कि एनसीआरबी कितनी गंभीरता से आपके ऊपर नजर रखे हुए है। ऐसा ही एक मामला पश्चिमी राजस्थान के सरहदी बाड़मेर जिले में सामने आया है, जहां पर कोतवाली पुलिस ने गूगल पर सोशल मीडिया पर बच्चों के गंदे वीडियो सर्च कर देखने पर डाउनलोड करने के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया है। 

इस आरोपी को किया गिरफ्तार 

बाड़मेर कोतवाली पुलिस ने एटीएस राजस्थान के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने गूगल पे सोशल मीडिया पर मोबाइल फ़ोन से गूगल व सोशल मीडिया पर बच्चों की गंदी फोटो लें विडिओ सर्च कर देखने व डाउनलोड करने वाले युवक के खिलाफ़ कोतवाली थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी भवानी माली निवासी रॉय कॉलोनी को गिरफ्तार किया है। 

अपराध है गंदी वीडियो देखना 

जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो ने राजस्थान एटीएस को पत्र लिखकर व सीडी बनाकर भेजी थी। राजस्थान के बाड़मेर की एक कॉलोनी निवासी भवानी पुत्र हनुमान राम माली लगातार गूगल में सोशल मीडिया पर बच्चों की गंदी फ़िल्में सर्च करता था और देखता था । यह अपराध की श्रेणी में आता है और इसके खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई की जाती है। 

इन धाराओं में मामला दर्ज 

जिसके बाद एटीएस ने बाड़मेर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव को पत्र लिखा। उसके बाद कोतवाली पुलिस ने आरोपी भवानी के खिलाफ़ आईटी एक्ट के तहत 67,67 ए, 67 बी धाराओं के अधीन मामला दर्ज किया और आरोपी को गिरफ्तार किया है। इसके पुलिस अब न्यायालय में पेश करेगी। 

गौरतलब है कि मोबाइल पर ऐसी वीडियो व फिल्में देखने वालों पर लगातार NCB की टीम मॉनीटरिंग कर रही है और पुलिस भी सॉफ्टवेयर के जरिए चाइल्ड गंदी वीडियो देखने वाले के ऊपर नजर रख सख्ती बरत रही है। राजस्थान एटीएस की तरफ से रिपोर्ट के सबूत के तौर पर सीडी के तहत एक माह में दूसरा मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *