Rajasthan News: राजस्थान की महिलाओं के लिए खुशखबरी, अब घर बैठकर कर सकेंगी ऑफिस का काम

Rajasthan News जयपुर । राजस्थान राज्य समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष डॉक्टर अर्चना शर्मा की अध्यक्षता में शुक्रवार को राजस्थान राज्य समाज कल्याण बोर्ड की द्वितीय साधारण सभा का आयोजन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अंबेडकर भवन में हुआ। 

Rajasthan News: राजस्थान की महिलाओं के लिए खुशखबरी, अब घर बैठकर कर सकेंगी ऑफिस का काम
ऑफिस वर्क करने जाती छात्राएं- मीडिया

बैठक में राज्य बोर्ड ने विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का संचालन प्रारंभ करने गुड-टच बैड-टच कार्यशाला के आयोजन, मासिक धर्म के दौरान महिला कर्मिकों के लिए वर्क फ्रॉम होम के प्रावधान, परिवार परामर्श केंद्र, वृद्ध आश्रम संचालिका, यशोदा पालना गृह योजना, अंतरराष्ट्रीय भाषा शिक्षण केंद्र की स्थापना आदि विभिन्न प्रस्ताव प्रशासनिक विभाग के माध्यम से स्वीकृत हेतु राज्य सरकार को भिजवाए जाने का निर्णय लिया। 

डॉक्टर शर्मा ने कहा कि बोर्ड का गठन राज्य में विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के साथ-साथ महिला एवं बच्चों के कल्याण एवं उत्थान के लिए प्रभावी नीती के निर्धारण एवं सामाजिक कल्याण के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के उद्देश्य से किया गया है। इस संबंध में बोट समय समय पर अपने सुझाव भी देता रहा है। 

गुड-टच बैड-टच की जानकारी दी जाएगी

अर्चना शर्मा ने बताया कि बच्चों के साथ बढ़ते योन अपराधों में कमी लाने के उद्देश्य से राज्य के सभी कॉलेजों एवं विद्यालयों में राज्य जिला एवं पंचायत समिति स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसमें उन्हें गुड-टच बैड-टच एवं जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि निरंतर सामाजिक परिवर्तनों के फलस्वरूप पारिवारिक तनाव में अत्यधिक वृद्धि हो रही है, जिसका असर वैवाहिक रिश्तों पर भी पड़ रहा है। इन परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए परिवार परामर्श केंद्र स्थापित किये जाने की आवश्यकता है। जहां पर परिवार के सदस्यों एवं महिलाओं की काउंसलिंग की जाए तथा आवश्यकता पड़ने पर समुचित विधिक सहायता भी प्रदान की जाए। 

प्रशासनिक विभाग को की अनुशंसा बोर्ड अध्यक्ष ने अवगत कराया है कि बोर्ड द्वारा यशोदा पालना गृह योजना का भी संचालन किए जाने का प्रस्ताव है। जिसके तहत छह माह से छह वर्ष तक की आयुवर्ग के बच्चों की देखभाल के साथ-साथ उनके शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए शिक्षा पूरक मनोरंजन एवं पोषाहार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। बैठक में डॉक्टर शर्मा ने कहा कि विभिन्न अंतरराष्ट्रीय भाषाओं को सिखाने के लिए अंतरराष्ट्रीय भाषा शिक्षण केंद्र की स्थापना की जानी प्रस्तावित है। 

केंद्र के माध्यम से ही भाषाओं का ज्ञान प्राप्त कर युवा रोजगार से जुड़ सकेंगे इनके अतिरिक्त राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए राज्य व जिला स्तरीय सेमिनार के आयोजन नशा मुक्ति कार्यक्रम वृद्ध एवं अशक्त गृह  का संचालन  समाज कल्याण बोर्ड द्वारा किया जाना तथा मासिक धर्म के दौरान राज्य सेवा नियमों में महिलाकर्मियों के लिए वर्क पूरा मोम का प्रावधान करने का प्रावधान किया जाए राज़ बोर्ड में स्वेच्छिक संगठनों का डेटा एकत्र कर उन्हें सूचीबद्ध करने संबंधी प्रस्ताव की भी अनुशंसा प्रशासन विभाग को की जा रही है। बैठक में बोर्ड उपाध्यक्ष मीनाक्षी चंद्रावत, सदस्य श्रद्धा आर्य आस्था अग्रवाल, हुकुम मीणा, सीमा चौरडिया, डॉक्टर चंद्रिका, तारा बेनीवाल, भावना सैनी सहित विभिन्न शासकीय प्रदर्शन उपस्थित रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *