Rewari News: पीली पट्टी से बाहर सामान रखा तो लगेगा 5 हजार का जुर्माना

– नप की कार्रवाई में मार्केट प्रधान रहेंगे साथ, रेहड़ी संचालकों के जारी किए जाएंगे लाइसेंस, अलग से होगा जगह का निर्धारण

Rewari News रेवाड़ी। शहर के मुख्य बाजार में अतिक्रमण की समस्या को खत्म करने के लिए प्रशासन सख्ती के मूड में आ गया है। शहर के सभी मार्केट प्रधानों के साथ डीएमसी सुभिता ढाका ने मंगलवार को बैठक की।

Rewari Nagar parishad meeting
Rewari Nagar parishad meeting

इसमें अतिक्रमण सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर काफी नोकझोंक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि पीली पट्टी की सीमा से बाहर सामान रखने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ऐसा करने पर उनपर पांच हजार रुपये का जुर्माना किया जाएगा साथ ही सामान भी जब्त कर लिया जाएगा।

प्रशासन की इस कार्रवाई में मार्केट प्रधान साथ रहेंगे। वहीं, रविवार को लगने वाला संडे मार्केट को बंद किया जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि सभी रेहड़ी संचालकों के लाइसेंस जारी किए जाएंगे। शहर के विश्राम ग्रह में 12 बजे शुरू हुई बैठक करीब दो घंटे चली बैठक में कई बार मार्केट प्रधानों के आपस में भिड़ने की नौबत आई, लेकिन बीच बचाव करा दिया गया।

शहर के मुख्य बाजार में अतिक्रमण की समस्या लंबे समय से चली आ रही है। नगर परिषद की बैठक हो या फिर डोसी की बैठक अतिक्रमण व जाम का मुद्दा छाया रहता था। दुकानदारों, रेहड़ी संचालकों व फड़ लगाने वालों की मनमर्जी के कारण बाजार के चौड़े रोड गली के रूप में बदल गए है। दोपहिया वाहन तो दूर लोगों का पैदल निकलना भी दूभर हो गया है। कई बार कार्यवाई करने कई नगर परिषद की टीम के साथ भी दुकानदारों का झगड़ा हो गया था।

नप कर्मचारियों पर पक्षपात पूर्ण कार्रवाई करने का आरोप

इस दौरान रेहड़ी संचालकों ने कहा कि प्रशासन को चाहिए कि उनके लिए भी रेहड़ी संचालक यशपाल ने बैठक में पहुंचकर नप कर्मचारियों की पक्षपात पूर्ण कार्रवाई का विरोध किया। उन्होंने कहा कि नगर परिषद पिछले दिनों पूरे बाजार से केवल उसकी रेहड़ी को उठाकर ले गई। अन्य किसी को कुछ नहीं कहा गया। यशपाल ने बताया कि अगर नप किसी की रेहड़ी उठा लेती थी तो अगले दिन लौटा दी जाती थी, लेकिन उसकी रेहड़ी को नहीं लौटाया जा रहा है। इसके बाद डीएमसी ने रेहड़ी वापस करने के आदेश दिए।

मार्केट प्रधानों ने बताया कि कई वाहन चालक दुकानों के सामने अपने वाहनों को खड़ा कर चले जाते हैं, जिससे न केवल दुकानदारी प्रभावित होती है बल्कि बाजार में जाम की स्थिति भी पैदा होती है। प्रशासन को चाहिए ऐसे वाहनों का चालान किया जाए। इस पर डीएमसी ने बताया कि पुलिस प्रशासन से बातचीत कर जल्द ही इस समस्या का समाधान करा दिया जाएगा। जगह का निर्धारण करें ताकि उनके परिवारों के सामने भूखा मरने की नौबत न आए मार्केट प्रधानों ने कहा कि सभी बाजारों में सीसीटीवी भी लगाए जाने चाहिए ताकि चोरियों की घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके।

बैठक में संडे मार्केट को बंद कराने की मांग उठी। इसके बाद संडे मार्केट को बंद करने का निर्णय लिया गया। बाजारों में शौचालयों के निर्माण की मांग की उठाई गई। बैठक में नगर परिषद की चेयरपर्सन आदि मौजूद रहे।

बैठक में रहे शामिल 

पूनम यादव, ईओ मनोज यादव, सचिव प्रवीण कुमार, सफाई इंस्पेक्टर संदीप कुमार, पंजाबी मार्केट एसोसिएशन के प्रधान सरदार बलवीर सिंह, सर्राफा बाजार के प्रधान नीरज सोनी, केवल बाजार के प्रधान पंकज कुमार, भाड़ावास गेट के प्रधान मन्नू भारद्वाज, अनिज अनरेजा, नया बाजार के राकेश भाटोटिया व सब्जी मंडी प्रधान हंसराज गुर्जर व पुरानी सब्जी मंडी प्रधान शिवदयाल सैनी

मुख्य बाजारों में अतिक्रमण व जाम की समस्या लंबे समय से है। कई बार नगर परिषद की ओर से कार्रवाई की गई, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ आज सभी बाजारों के प्रधानों की बैठक बुलाकर उनसे सहयोग मांगा था। बैठक में सभी की सहमति हो गई है। अब कोई भी दुकानदार पीली पट्टी से बाहर सामान नहीं रखेगा। अगर कोई ऐसा करता है तो प्रधान स्वयं साथ चलकर उसका चालान कराएगा। इसके साथ ही रेहड़ी संचालकों के लाइसेंस भी जारी किए जाएंगे।

सुभिता ढाका, डीएमसी रेवाड़ी

——————

अतिक्रमण के कारण बाजारों का बुरा हाल हो चुका है। इसके खिलाफ कार्रवाई में व्यापारी प्रशासन के साथ हैं। प्रशासन को चाहिए मार्केट में सीसीटीवी व शौचालय की व्यवस्था कराई जाए। शहर में कई जेबकतरे ग्राहकों की जेब काट लेते हैं। ऐसे में सीसीटीवी बेहद जरूरी है। इस पर काम होना चाहिए।

सरदार बलबीर सिंह, प्रधान पंजाबी मार्केट

———————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *